वाराणसी: स्मार्ट बन रहा बनारस, गली से लेकर सड़क तक बदल रही शहर की फिजा

Smart News Team, Last updated: Fri, 6th Aug 2021, 2:39 PM IST
  • वाराणसी. 837 करोड़ की योजनाओं से वाराणसी शहर को सुसज्जित करने की कवायद शुरू हो चुकी है. शहर के वार्डों से लेकर सड़कें, गालियाँ, भवन, स्कूल व कुंड, तालाब और पार्कों का सौन्दर्यीकरण किया जा रहा है.
प्रतीकात्मक तस्वीर

वाराणसी. शहर को स्मार्ट सिटी बनाने की कवायद शुरू की जा चुकी है. इतिहास से भी पुराने और गलियों के तंग शहर की फिजा तेजी से बदलने लगी है. इसके लिए 837 करोड़ की योजनाओं से शहर को सुसज्जित किये जाने की तैयारी चल रही है. परियोजनाओं में वाराणसी में सभी वर्गों के बच्चों के लिए स्मार्ट स्कूल, शहर की पहली मल्टीलेवल स्मार्ट पार्किंग, पुरानी वाराणसी के वार्डों में री डेवलेपमेंट वार्ड ऑफ ओल्ड काशी, भव्य कन्वेंशन सेंटर के अलावा बाजार का नवीनीकरण व सड़क, फ्लाई ओवर, सुंदर पार्क व कुंड व तालाब सहित तमाम योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है.

कई योजनाओं की शुरुआत हो चुकी है और कई योजनाओं के टेंडर निकाले जा चुके हैं. सिगरा के उद्यान पार्क में बने सिटी कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से स्मार्ट सिटी योजनाओं का कंट्रोल लिया जा रहा है.

वाराणसी स्मार्ट सिटी के तहत नगर में सीसीटीवी कैमरे लगाने का कार्य चालू है. इसके तहत सात सौ से भी अधिक कैमरे लगाए जाएंगे डीएम की निगरानी में 4500 वर्ग मीटर के मछोदरी स्कूल का 14.21करोड़ रुपये से कायाकल्प हो रहा है.

स्कूल में ग्राउंड टू प्लस का भवन, प्राइमरी और सेकेंडरी क्लासेस, कौशल विकास केंद्र, कम्प्यूटर रूम, लिफ्ट, फायर फाइटिंग, रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम व जेनसेट की सुविधा रहेगी जिसका लाभ लेते हुए समाज के सभी वर्गों के बच्चे पढ़ सकेंगे. गदौलिया में शहर की पहली मल्टीलेवल तीन मंजिला पार्किंग बन रही है जिसकी लागत 10.56 करोड़ है.

इसके अलावा शहर में तीन जगह बेनियाल, टाउन हॉल व सर्किट हॉउस में पार्किंग की तैयारी है. रीडेवलपमेन्ट वार्ड ऑफ ओल्ड काशी परियोजना के तहत वार्डों कामेश्वर महादेव, काशी काल भैरव, दशाश्वमेध और जंगमबाड़ी आदि को लगभग 75 करोड़ की योजनाओं से स्मार्ट बनाया जा रहा है. ज्यादातर वार्डों में दिसंबर 2021 तक कार्य पूरा हो जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें