वाराणसी: स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 में शहर को पहले स्थान पर लाने की कवायद शुरू

Smart News Team, Last updated: Sat, 17th Oct 2020, 9:10 PM IST
  • नगर आयुक्त की नजर अब पहले स्थान पर है जिसके लिए उन्होंने ज़िम्मेदारों को पहले ही आगाह कर दिया है. आगामी स्वच्छता मिशन को लेकर नगर में कार्य शुरू हो गए हैं. कूड़ा उठान हेतु निजी कंपनी द्वारा घर घर जाकर कार्य किया जा रहा है.
वाराणसी अब स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 में भी टॉप पर लाने की तैयारी

वाराणसी. प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना में पहले पायदान पर पहुंचे वाराणसी को अब स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 में भी टॉप पर लाने की योजना पर अमल शुरू कर दिया है. नगर आयुक्त गौरांग राठी ने इसके लिए लक्ष्य तय करते हुए नगर निगम के अफसरों व कर्मचारियों को साफ कर दिया कि लक्ष्य से कम अंक को लेकर कोई समझौता नहीं किया जा सकता है. उन्होंने अधिकारियों से कहा कि परीक्षा हेतु हर बिंदु पर बेहतर कार्य करें.

चाची से इश्क लड़ाना भतीजे को पड़ा भारी, चाचा ने कुल्हाड़ी से काट डाला

स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 की बात करें तो पिछले साल वाराणसी शहर 70 वां स्थान था.इसके बाद स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 की रिपोर्ट में बनारस बड़ी छलांग लगा चुका है. सर्वेक्षण में मिले 3684.20 अंक के आधार पर शहर स्वच्छता रैंकिंग में 27 वें पायदान पर पहुंच गया है. मतलब शहर ने 43 पायदान की छलांग लगाई है.

इसके अलावा उत्तर प्रदेश के सात शहरों में बनारस ने छठवां स्थान प्राप्त किया है. नगर आयुक्त की नजर अब पहले स्थान पर है जिसके लिए उन्होंने ज़िम्मेदारों को पहले ही आगाह कर दिया है. आगामी स्वच्छता मिशन को लेकर नगर में कार्य शुरू हो गए हैं.कूड़ा उठान हेतु निजी कंपनी द्वारा घर घर जाकर कार्य किया जा रहा है. वहीं नगर की सड़कों की स्वच्छता हेतु जर्मनी से आयी मशीन चालू हो गयी है. सार्वजनिक शौचालयों की सफाई के लिए भी मशीन मंगाई गई है.घाट व किनारों की सफाई के लिए दूसरी कंपनी को कार्य सौंपा गया है.

गंगा किनारे के हेरिटेज वार्डों में भी एक कंपनी सफाई कार्य व कूड़ा उठाने का काम करा रही है. स्वच्छता रैंकिंग में पहले पायदान पर उपस्थित दर्ज कराने के लिए ओडीएफ प्लस मिशन की तरह जुटाना होगा साथ ही स्वच्छता मिशन से जुड़े हर कार्य को करना होगा.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें