वाराणसी: कल से डाउनलोड कर सकेंगे बीएचयू के प्रवेश पत्र, 24 अगस्त से परीक्षाएँ

Smart News Team, Last updated: 17/08/2020 05:07 PM IST
  • 24 से 31 अगस्त तक कई चरणों में होंगी प्रवेश परीक्षाएँ स्नातक और स्नातकोत्तर में दाखिले के लिए देश भर से सवा पांच लाख अभ्यर्थियों ने किया आवेदन छोटे शहरों में भी बनाए गए हैं परीक्षा केंद्र
काशी हिंदू यूनिवर्सिटी

वाराणसी। बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी की प्रवेश परीक्षा को लेकर चल रही उहापोह लगभग समाप्त हो चुकी है. विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से प्रवेश पत्र डाउनलोड करने ऑप्शन दे दिया गया है. 18 अगस्त से परीक्षार्थी अपना प्रवेश पत्र डाउनलोड कर सकते हैं.

इसके अलावा 24 अगस्त को प्रवेश परीक्षा शुरू होगी जो कई चरणों में होगी. प्रवेश परीक्षा 24 से लेकर 31 अगस्त तक चलेगी. इसके लिए छोटे-छोटे शहरों में भी कई परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं.

बीएचयू में दाखिले के लिए 24 अगस्त से होने वाली प्रवेश परीक्षा की तैयारियां अंतिम चरण में हैं.

अभ्यर्थी मंगलवार से प्रवेश पत्र डाउनलोड कर सकेंगे. स्नातक और स्नातकोत्तर में होने वाले दाखिले के लिए इस बार देश भर से सवा पांच लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है.

दो चरणों में परीक्षा होगी. पहले चरण में 24 से 31 अगस्त और दूसरे चरण में 9 से 14 सितंबर के बीच परीक्षा होगी. देश भर में 202 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं. परीक्षा नियंता मनोज पांडेय ने बताया कि परीक्षाएं कोरोना महामारी की गाइडलाइन और यूजीसी के निर्देशानुसार कराई जाएंगी.

24 अगस्त को जिन अभ्यर्थियों की परीक्षा होनी है. उनके प्रवेश पत्र मंगलवार तक प्रवेश परीक्षा पोर्टल पर अपलोड हो जाएंगे. संबंधित अभ्यर्थी अपना रजिस्ट्रेशन नंबर, ईमेल आईडी के माध्यम से प्रवेश पत्र को डाउनलोड कर सकते हैं. परीक्षा से जुड़ी कोई भी जानकारी वेबसाइट से प्राप्त की जा सकती है.

पहले चरण में परास्नातक कोर्स जैसे, एलएलबी, बीएड, बीपीएड, बीएफए और बीपीए के लिए परीक्षाएं होंगी. वहीं दूसरे चरण में स्नातक के बीए ऑनर्स, बीकॉम ऑनर्स, बीकॉम, बीएससी ऑनर्स, बीए एलएलबी पंचवर्षीय बीएससी आनर्स, मैथमैटिक्स, बीएससी बायोलॉजी, शास्त्री और विभिन्न वोकैशनल कार्सों के लिए परीक्षाएं होंगी.

परीक्षा के विरोध में धरना प्रदर्शन जारी, वीसी को भेजा पत्र

बीएचयू में प्रवेश परीक्षाओं के विरोध में ज्वाइंट एक्शन कमेटी के सदस्य नीरज राय का धरना सोमवार को भी जारी रहा. छात्र अधिष्ठाता कार्यालय पर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे नीरज ने बताया कि कुलपति को एक खुला पत्र भी भेजा गया है. इसमे सभी जिलों में परीक्षा केंद्र बनाए जाने की मांग की है. कुलपति से सभी जिले में परीक्षा केंद्र बनाए जाने, एनआईसी का सहयोग लेने, पेनेडमिक एक्सपर्ट कमेटी बनाने की भी मांग की गई हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें