निजी व सरकारी योजनाओं की मदद से चमक रहे हैं वाराणसी के सरकारी स्कूल

Smart News Team, Last updated: 02/10/2020 07:52 PM IST
  • परिषदीय विद्यालयों में सरकार द्वारा चलाये जा रहे आपरेशन कायाकल्प व बेसिक शिक्षा महानिदेशक विजय किरण आनंद द्वारा मिशन प्रेरणा के तहत किये जा रहे प्रयासों द्वारा एक तरफ तो परिषदीय स्कूलों की चमक बढ़ रही है.
प्रतीकात्मक तस्वीर

वाराणसी: गेल इंडिया ने सीएसआर फंड से 20 स्कूलों को कंप्यूटर व प्रोजेक्टर दिया है. नेशनल एल्यूमिनियम कंपनी ने 140 विद्यालयों में फर्नीचर, 127 में सफेद बोर्ड, 50 में कंप्यूटर, सहित अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराई हैं. इसके अलावा जिले में रूम टू रीड संस्था 580 स्कूलों में लाइब्रेरी चला रही है.

करीब 149 स्कूलों में टाट-पट्टी के स्थान पर डेस्क मौजूद हैं और 137 विद्यालयों में में सफेद बोर्ड, 111 स्कूलों में आरओ, 57 स्कूलों में कंप्यूटर की सुविधा हुई है. इनमें स्मार्ट क्लास के तहत दो-दो कंप्यूटर, प्रिंटर, डेस्क-बेंच, रूम-टू-रीड, सफेद बोर्ड, आरओ, सबमर्सिबल पंप, टाइल्स सहित अन्य सुविधाएं मौजूद हैं.

वाराणसी: 230 एकड़ जमीन पर बनेगा सांस्कृतिक केंद्र और भोजपुरी फि़ल्म सिटी

312 स्कूलों में समर्सिबल पम्प व 111 स्कूलों में आरओ लगवाया जा चुका है, विभिन्न कंपनियों द्वारा वाराणसी के स्कूलों में अब तक लगभग 19.6 करोड़ की लागत से स्कूलों का सौन्दर्यीकरण कराया गया है.वहीं वाराणसी में इनके अलावा विभिन्न कंपनियों के सीएसआर फंड से जनपद के 69 विद्यालयों को स्मार्ट बना विद्यालयों की सुंदरता में चार चाँद लग रहे हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें