वाराणसी: शहर में बढ़ता वायु प्रदूषण चिंताजनक, देश में दूसरे नंबर पर आया शहर

Smart News Team, Last updated: 02/10/2020 01:02 PM IST
  • लॉक डाउन के बाद उद्योग धंधों व वाहनों के आवागमन से वायु प्रदूषण बहुत तेजी से बढ़ा है.सर्वाधिक वायु प्रदूषित शहरों में वाराणसी दूसरे नंबर पर आ गया है.
वायु प्रदुषण का संकट

वाराणसी: लॉक डाउन के बाद ढील मिलने पर देश व प्रदेश के प्रमुख शहर एक बार फिर वायु प्रदूषण की भीषण चपेट में आ गए हैं. सितम्बर माह के अंतिम दिन प्रधानमंत्री का संसदीय क्षेत्र अध्यात्म की नगरी वाराणसी वायु प्रदूषण के मामले में दूसरे नंबर पर है. वहीं प्रदेश की राजधानी लखनऊ पहले नंबर पर प्रदूषित शहर में शुमार है.

केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा 30 सितम्बर को जारी किये गए आंकड़ों के अनुसार वाराणसी शहर की हवा की एयर क्वालिटी इंडेक्स एक्यूआई 256 के खराब स्तर पर पहुंच गई है.

क्लाइमेंट एजेंडा की निदेशक एकता शेखर ने कहा कि इस मामले में प्रशासन व विभागों द्वारा बरती जा रही लापरवाही के चलते ऐसा हो रहा है. बढ़ते कोविड 19 मामलों के बीच में वायु प्रदूषण का बढ़ जाना और चिंता जनक है. वायु प्रदूषण से निपटने के लिए यूपी में पिछले माह ही एक्शन प्लान तैयार किया गया और उससे पूर्व राष्ट्रीय स्वच्छ वायु कार्यनीति की भी घोषणा की गई पर दोनों योजनाएं जमीनी स्तर पर न चलकर फेल ही साबित हुई हैं.

वाराणसी सर्राफा बाजार में सोना चांदी की चमक बढ़ी, क्या है आज का मंडी भाव

सामाजिक संस्था केयर फॉर एयर ने भी एक रिपोर्ट जारी कर बताया कि सम्पूर्ण लॉक डाउन के समय कल कारखाने व वाहनों के बंद होने से स्वच्छ वायु को महसूस किया गया और गुणवत्ता के मानक भी अच्छे रहे. लॉक डाउन खुल जाने के बाद इन कार्यों में फिर तेजी आ गयी और वायु प्रदूषण लगातार खराब होता चला जा रहा है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें