वाराणसी: आम के बगीचे लगाओ 20 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर अनुदान पाओ

Smart News Team, Last updated: Thu, 5th Aug 2021, 2:50 PM IST
  • उत्तर प्रदेश सरकार ने किसानों की आय में वृद्धि के उद्देश्य से मनरेगा योजना के तहत मुख्यमंत्री फलोद्यान योजना जमीनी धरातल पर उतारी है. इस योजना के तहत सरकार किसानों को आम का बगीचा लगाने के लिए 20000 प्रति हेक्टेयर का अनुदान भी दे रही है.
मनरेगा योजना के तहत मुख्यमंत्री फलोद्यान योजना जमीनी धरातल पर उतारी है

वाराणसी. योजना के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए काशी के जिला उद्यान अधिकारी संदीप गुप्ता ने बताया कि फलों का उत्पादन कर किसान अपनी आय अच्छी खासी बढ़ा सकते हैं. इसके लिए सरकार भी बागवानी करने वाले किसानों के साथ सहायता का हाथ बढ़ा रही है. ने बताया कि हाल ही में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने मनरेगा योजना के तहत मुख्यमंत्री फलोद्यान योजना शुरू की है. ने बताया कि इन दोनों आम की पौध लगाने का उपयुक्त समय है. इसे देखते हुए ही सरकार ने यह योजना बागवानी के किसानों के लिए जमीनी धरातल पर उतारी है. बताया कि बागवानी के अलावा भी जिन किसानों के पास अपनी निजी भूमि है वह भी अपना आम का बगीचा लगा सकते हैं.

इसके लिए सरकार की ओर से उन्हें 20000 प्रति हेक्टेयर के हिसाब से अनुदान भी मुहैया कराया जाएगा. उन्होंने बताया कि फलोद्यान योजना के तहत न केवल नए आम के बगीचे तैयार किया जा सकते हैं बल्कि पुराने आम के जीर्ण शीर्ण अवस्था के बगीचे को भी जीर्णोद्धार कराने के लिए सरकार अनुदान दे रही है. उन्होंने बताया कि आम का बाग लगाने में खर्च कम और आमदनी अधिक है. एक बार आम का बाग लगाने के बाद इसका लाभ किसानों को लंबे समय तक मिलता रहता है.

जिला उद्यान अधिकारी संदीप गुप्ता ने बताया कि जनपद के 20 भाग वालों को इस क्रम में चयनित किया गया है. इसके तहत चयनित किसानों को आम का बगीचा लगाने के लिए प्रशिक्षण भी दिया जा चुका है. जिला उद्यान अधिकारी श्री गुप्त ने बताया कि योजना के तहत लघु एवं सीमांत श्रेणी के किसानों को बाग लगाने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है. बताया कि निजी जमीन पर आम का बगीचा लगाने के लिए किसानों को आधे से लेकर खाद्य तक विभाग की ओर से मुफ्त उपलब्ध कराई जाएगी. इसके अलावा मजदूरी का खर्च भी प्रदेश सरकार उठाएगी. वहीं किसानों को निर्धारित सरकारी दरों पर पौध भी उपलब्ध कराएगी. बताया कि यदि किसी किसान के पास पहुंच खरीदने के लिए धन की कमी आड़े आ रही हो तो ऐसे किसान को जिला उद्यान विभाग पौध उपलब्ध कराएगा, उन्होंने बताया कि जीर्ण शीर्ण बगीचों का जीर्णोद्धार करने के लिए इस माह से काम शुरू करा दिया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें