वाराणसी: शास्त्री स्मृति भवन में अब देखी और सुनी जा सकेगी शास्त्री जी की जीवनी

Smart News Team, Last updated: 04/10/2020 08:48 AM IST
  • देश दुनिया में भव्य रामलीला के लिए प्रसिद्ध वाराणसी के भाग रामनगर को पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की स्मृतियों से जोड़कर भी देखा जाता है. रामनगर में बना उनका आवास उनकी स्मृतियां, कहानियाँ और व्यक्तित्व की श्रेष्ठता का बखान करता है.
पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री

वाराणसी: स्वर्गीय लाल बहादुर शास्त्री जी की उन यादों को जीवंत करने के लिए एक नए प्रोजेक्ट पर काम शुरू होने जा रहा है. जिसमें शास्त्री जी की महानता का बखान जीवंत रूप में देखने को मिलेगा. अपनी जीवटता से समय की शिला पर एक भरी पूरी चित्रावली उकेरने वाले शास्त्री जी की स्मृतियां अब उनके आवास में जल्द ही जीवंत रूप में नजर आएंगी. इसके लिए शास्त्री स्मृति भवन संग्रहालय में ऑडियो वीडियो विसुअल हाल, सोवेनियर पटल व लाइब्रेरी के लिए प्रस्ताव भेजा जा चुका है.

इसमें लाल बहादुर शास्त्री के जीव से जुड़ी फिल्मों को दिखाया जाएगा. सोशल मीडिया पर उनसे जुड़ी क्लिप को भी  परख कर प्रदर्शित किया जाएगा। साथ ही लाइब्रेरी व सोवेनियर पटल आदि भी विकसित होंगे. इसके लिए संस्कृति विभाग को प्रस्ताव भेजा गया है. माना जा रहा है प्रस्ताव पर जल्द ही स्वीकृति मिल कार्य शुरू कर दिया जाएगा. शास्त्री जी ने दुश्वारियों भरे समय से किस तरह लोहा लिया और एक गौरवशाली इतिहास रच दिया, यह सब जल्द स्क्रीन पर नजर आएगा.

वाराणसी: पिशाच मोचन लूट केस में खुलासा, एसी मैकेनिक निकला लुटेरा, गिरफ्तार

वहीं शास्त्री जी से जुड़ीं क्लिप जुटाने व उनके परीक्षण का कार्य शुरू कर दिया गया है. हालांकि पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह के दौर में उनके आवास को राष्ट्रीय स्मारक घोषित किया गया व पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के समय उनके पैतृक आवास के जीर्णोद्धार का कार्य शुरू हुआ. मकान को विस्तार भी दिया गया. इसके बाद सितम्बर 2018 में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व राज्यपाल राम नाइक द्वारा लोकार्पण कर स्मृतियों को संजोने का कार्य जारी है.

नए प्रस्ताव को संस्कृति विभाग से स्वीकृति मिल जाने के बाद लाल बहादुर शास्त्री जी के जीवन और महान पलों को उनके भवन में जाते ही जीवित रूप से निहारा और सुना जा सकेगा.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें