वाराणसी: बढ़ने लगे पर्यटक, गुलजार हुए गंगा घाट

Smart News Team, Last updated: 15/12/2020 02:18 AM IST
  • रविवार को जुटे सैलानियों में कोरोना का भय बिल्कुल नहीं दिखाई दिया.लोगों ने बिना मास्क के ही खूब सैर-सपाटा किया व पिकनिक मनाई.
फाइल फोटो

वाराणसी. कोरोना काल जैसे जैसे बीत रहा है आम इंसान अब आजाद होकर लुत्फ़ ओ अंदाज़ के लिए पर्यटन व सैर सराबे के लिए निकल रहा है. ऐसा ही नजारा अब रविवार को ठंड की गुनगुनी धूप में परिवार संग परिभ्रमण के लिए दिन भर गंगा के घाटों से लेकर सारनाथ तक में देखने को मिला.गंगा-घाटों पर बड़ी संख्या में लोग जुटे दिखाई दिए और बच्चों ने जमकर मौज मस्ती की. रविवार को जुटे सैलानियों में कोरोना का भय बिल्कुल नहीं दिखाई दिया. लोगों ने बिना मास्क के ही खूब सैर-सपाटा किया व पिकनिक मनाई. मूलगंध कुटी विहार पार्क के प्रवेश गेट पर मास्क की जांच या शरीर का तापमान मापने का काम भी होता नहीं दिखा.

कोरोना के दौर में शायद यह पहला रविवार है जब सारनाथ के पार्को में पर्यटकों की भीड़ उमड़ पड़ी. इस भीड़ से जहाँ पार्क गुलजार हुए तो दुकानदारों के चेहरे खिल उठे. लोगों ने पार्क के गेट पर गुब्बारे व खिलौनों बेच रहे फेरी वालों से खूब खरीदारी की. महिलाओं ने सड़क किनारे सजे चाट, गोलगप्पे के ठेले पर स्वाद का आनंद लिया. पक्षी विहार केंद्र में भी स्थानीय बाशिंदों और पर्यटकों की खूब भीड़ उमड़ी.

वाराणसी:फैशन डिजाइनर तन्मया द्विवेदी ने काशी में उतारे ब्राइडल ड्रेस

पुरातत्व खंडहर परिसर में घूमने केलिए आए सैलानी आनलाइन ई-टिकट निकालने में व्यस्त रहे.इस दौरान मूलगंध कुटी विहार बौद्ध मंदिर से संग्रहालय तक सड़कों के दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतारें देखी जा सकती थीं. बाजार की हैंडीक्राफ्ट की दुकानों से जमकर खरीदारी हुई. शाम चार बजे से पर्यटकों वापस होना शुरू हो गए और 5 .30 बजे तक सन्नाटा होता गया. वहीं वाराणसी के अस्सी, दशाश्वमेध समेत विभिन्न गंगा घाटों पर भी लोग तफरी के लिए निकले. नौकायन किया और रेती में भी घूमे-टहले बच्चों ने खूब मस्ती की.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें