वाराणसी: मुख्तार के करीबी मेराज के भांजे परवेज को पुलिस ने किया गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: 28/09/2020 08:33 AM IST
वाराणसी। 1- उत्तर प्रदेश में अपराधियों पर लगाम कसने के लिए प्रदेश की पुलिस ने कमर कस ली है. लगातार पुलिस द्वारा ताबड़तोड़ गैंगस्टरों व अपराधियों पर छापेमारी की जा रही है. इसी क्रम में मऊ विधायक मुख्तार अंसारी के सहयोगी फरार अपराधी मेराज अहमद के भांजे परवेज अहमद को रविवार को कैंट पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. पुलिस के मुताबिक मेराज मुन्ना बजरंगी गैंग के सूचीबद्ध सदस्यों में से एक है. मुख्तार अंसारी का सहयोगी है. पुलिस कई महीनों से इसकी तलाश कर रही थी.2- कोरोना संक्रमण काल में अजीबो गरीब घटना सामने आ रही है. वाराणसी के बीएचयू के सुंदरलाल अस्पताल में ही एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. बीएचयू के सर सुंदर लाल अस्पताल के वार्ड से एक और संक्रमित मरीज गायब हो गया है. मरीज के गायब होने से अस्पताल प्रबंधन के हाथ पांव फूल गए. इसकी जानकारी विश्वविद्यालय प्रशासन ने लंका थाने देकर अवगत कराया. मोहम्दाबाद मऊ के रहने वाला 65 वर्षीय एक बुजुर्ग 23 को न्यूरोलॉजी वार्ड में भर्ती हुआ था. रविवार को मरीज वार्ड से गायब मिला जिसके बाद अस्पताल प्रशासन ने लंका थाने में सूचना दर्ज कराई.3- अपराधियों पर लगातार उत्तर प्रदेश पुलिस का शिकंजा कसता जा रहा है. रविवार को पुलिस ने वाराणसी के शराब तस्कर दो सगे भाइयों की संपत्ति प्रशासन ने जब्त कर ली. बड़ागांव निवासी शिवशंकर सेठ उर्फ बाबू सेठ और उसके भाई सोनू सेठ के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत जब्तीकरण की कार्रवाई की गई. इस दौरान दोनों के दो होटल व एक शॉप सीज कर प्रशासन ने संपत्ति जब्त कर ली. 4- कोरोना के लिए जिले के नोडल अधिकारी अपर मुख्य सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी ने रविवार को पंडित दीनदयाल उपाध्याय चिकित्सालय का निरीक्षण कर स्वास्थ्य सेवाओं की जमीन हकीकत परखी. इस दौरान उन्होंने अलग-अलग वार्डो में जाकर भौतिक मुआयना किया. निरीक्षण के दौरान सचिव ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी से कोरोना मरीजों की देखभाल किए जाने की संपूर्ण जानकारी ली. मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि मांग एवं आपूर्ति के अनुरूप पहले ही योजना तैयार कर ली गई है. उसी के अनुरूप मरीजों की देखभाल की जा रही है. 5- वाराणसी में अगले माह गांधी जयंती से शुरू होने जा रहे डोर टू डोर कूड़ा उठान के लिए यूजर चार्ज तय किये गये हैं. कच्चे-पक्के मकानों, स्कूल-कॉलेजों, चाय-पान की दुकानों व अस्पतालों, होटलों से अलग-अलग दर पर ये चार्ज लिये जाएंगे. अक्टूबर माह के 18 वार्डों में अव्यवस्था शुरू की जाएगी. इसके बाद दशाश्वमेध घाट सहित अन्य जगहों पर नवंबर माह से यह व्यवस्था शुरू होगी. 

सम्बंधित वीडियो गैलरी